Featured

संतोष शब्द बड़ा संकुचित है

संतोष का भाव कहीं ना कहीं अपने मन में कोई प्रतिक्रिया को दबा लेना बताता है किसी भी भाव या इच्छा को दबा लेना पूर्ण समाधान नहीं यह तो केवल क्षणिक भ्रामक सुख में स्थिति उत्पन्न कर सकता है किंतु किसी भी प्रकार से किया गया संतोष एक न एक दिन ज्वालामुखी के रूप में […]

Read More संतोष शब्द बड़ा संकुचित है

प्रेम क्या है ? क्या प्रेम परमात्मा को पाने का साधन है ?

प्रश्न : प्रेम क्या है ? क्या प्रेम परमात्मा को पाने का साधन है ? उत्तर : मेरी दृष्टि में ,प्रेम साध्य है ,न कि साधन .जब अहंकार का नाश हो जाता है ,तब आत्म सत्ता शेष रहती है .यह आत्म सत्ता आनंद स्वरूप है .इस आनंद का नाम ही प्रेम है .आतंरिक स्थिति का […]

Read More प्रेम क्या है ? क्या प्रेम परमात्मा को पाने का साधन है ?

मै पुरुष

धम्भी, लोभी, घृणित, नीचना जाने किन-किन विशेषणों से मैं हर रोज़ नवाज़ा जाता हूँ!हर पल हर क्षण अपने मर्द होने पर लताड़ा जाता हूँ!हाँ, माना कि हैं काफी भेड़िये छिपेइस एक नाम के पीछेमैं पुरूष हूँ इस बात पर,अब और ना शर्मिंदा होना चाहता हूँ!सुनो! जो तुम हर बात पर यह उलाहना देती होकि “तुम मर्द हो, […]

Read More मै पुरुष

MenToo क्यूंँकि मैं पुरुष हूंँ!

आज मेरे कुछ अपनों के नाम❤️❤️चीखता हूंँ मैं भी अन्दरअचानक चुप्पी धर मौन हो जाता हूंँसदियों से सब कहना है मुझकोपर मैं कह नहीं पाता हूंँक्यूंँकि मैं पुरुष हूंँ!रहना है पत्थर होभार ज़िम्मेदारियों का ढोना हैथकता हूंँ मैं भी अक्सरपर मैं लड़खड़ा नहीं पाता हूंँक्यूंँकि मैं पुरुष हूंँ!लड़की की कुछ कम गोल रोटीसमाज ने अब […]

Read More MenToo क्यूंँकि मैं पुरुष हूंँ!

Women’s Day Special – नारी भिन्न है।

मैं आपको यह कहना चाहता हूं, स्त्री और पुरुष समान आदर के पात्र हैं, लेकिन समान बिलकुल भी नहीं हैं, बिलकुल असमान हैं। स्त्री स्त्री है, पुरुष पुरुष है। और उन दोनों में जमीन-आसमान का फर्क है। इस फर्क को अगर ध्यान में न रखा जाए तो जो भी शिक्षा होगी वह स्त्री के लिए […]

Read More Women’s Day Special – नारी भिन्न है।

valentines day Special

દરેક માણસ કોઈ તલાશમાં જીવે6 લાઇફમાં કૈક મિસિંગ લાગે6 એક એવી અધૂરપ બધામાં તરફડે6 બધાને થાય6 મારી કોઈને પડી નથી કોઈક એવું હોય મારું ધ્યાન રાખે મારી આંખની ભીનાશ ઓળખી જાય મારા મૂડને ઓળખે એ મારાને હું એના વિચારોમાં સજીવન હોઉં કોઈ એવું મળી જાય6 થોડોક સમય એવું લાગે6 કે જીંદગી જીવવાનું કારણ મળી ગયું […]

Read More valentines day Special

પ્રેમના પાણી અતાગ છે

મારા જખમ ને દર્દમાં કુદરતનો ભાગ છે કે ચાંદમાં છે દાગ ને સુરજમાં આગ છે કહે છે કે શ્રેષ્ઠ સ્થાન પ્રણયમાં છે ત્યાગનું એ સત્ય હો તો જાઓ, તમારો એ ત્યાગ છે મહેકી રહી છે એમ મુહોબ્બત કલંક થઇ જીવનના વસ્ત્ર પર કોઇ અત્તરનો દાગ છે બેફામ તારી પ્યાસને નથી કોઇ જાણતુ ને સૌ કહે […]

Read More પ્રેમના પાણી અતાગ છે